बिज़नेस

गौतम अडानी को एक और बड़ा झटका, डाउ जोन्स इंडेक्स से बाहर होगा अडानी इटरप्राइजेस का शेयर

मुंबई। गौतम अडानी को एक और बड़ा झटका लगा है। अडानी एंटरप्राइजेस को 7 फरवरी से पहले डाउ जोन्स सस्टेनेबिलिटी इंडेक्स से हटा दिया जाएगा। एक दिन पहले ही नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ने अडानी ग्रुप के तीन शेयरों अडानी एंटरप्राइजेस, अडानी पोर्ट्स और अम्बुजा सीमेंट्स को 3 फरवरी 2023 से एडीशनल सर्विलांस मीजर फ्रेमवर्क के तहत डालने की जानकारी दी थी। अब यह स्टॉक डाउ जोन्स सस्टेनबिलिटी इंडेक्स से बाहर होने की कगार पर है। इसका प्रभावी समय मंगलवार 7 फरवरी से शुरू हो रहा है। यह जानकारी यूएस मार्केट ने दी है।

अमेरिकी स्टॉक एक्सचेंज ने अडानी एंटरप्राइजेज को एसएंडपी डाउ जोंस सस्टेनबिलिटी इंडेक्स से बाहर करने के ऐलान के बारे में कहा गया है कि अडानी एंटरप्राइजेज को स्टॉक हेरफेर और अकाउंटिंग फ्रॉड के आरोपों द्वारा ट्रिगर किए गए मीडिया और स्टेकहोल्डर एनॉलिसिस के बाद डाउ जोन्स स्स्टेबिलिटी इंडेक्स से हटा दिया जाएगा। इंडेक्स की घोषणा में कहा गया है कि एसएंडपी डाउ जोन्स इंडेक्स मंगलवार 7 फरवरी, 2023 को खुलने से पहले प्रभावी बदलाव करेंगे। हिंडनबर्ग की रिपोर्ट के बाद अडानी ग्रुप के शेयरों में भारी गिरावट है। पिछले छह सत्रों में, एनएसई पर अडानी एंटरप्राइजेज शेयर की कीमत 3,442 रुपए से 55 प्रतिशत का गोता लगाते हुए, 1,565 रुपए से अधिक स्तर तक गिर गई है।

25 जनवरी के बाद से अडानी को झटके पर झटके लग रहे हैं। पिछले 9 दिन में अडानी ग्रुप को 8 लाख करोड़ रुपये से अधिक के नुकसान का अनुमान है। अडानी ग्रुप के कई स्टॉक्स 60 फीसद से नीचे आ चुके हैं। इसकी वजह से गौतम अडानी को ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स के टॉप-10 अरबपतियों की लिस्ट में चौथे नंबर से 21वें पर लाकर पटक दिया।
इस साल अडानी की संपत्ति 59.2 अरब डॉलर कम होकर 61.3 अरब डॉलर रह गई है। अडानी को करीब 52 अरब डॉलर का झटका तो केवल केवल एक हफ्ते में लगा है। आरबीआई ने सभी बैंकों से अडानी एंटरप्राइजेस को दिये कर्ज की जानकारी मांगी है। वहीं, अडानी ग्रुप ने 20 हजार करोड़ रुपए के फुली सब्सक्राइब्ड एफपीओ को रद्द कर इन्वेस्टर्स का पैसा लौटाने की बात कही है। अब अमेरिकी शेयर बाजार ने भी झटका दे दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fapjunk