राष्ट्रीय

सावधान! दिल्ली की हवा में फिर घुला ‘जहर’, गंभीर श्रेणी में पंहुची वायु गुणवत्ता, पीएम10 का स्तर 412 पर पहुंचा

[ad_1]

डॉ. गुलेरिया ने कहा कि वायु प्रदूषण बढ़ने से कोरोना वायरस का खतरा बढ़ सकता है.(फाइल फोटो)

डॉ. गुलेरिया ने कहा कि वायु प्रदूषण बढ़ने से कोरोना वायरस का खतरा बढ़ सकता है.(फाइल फोटो)

Delhi Polultion Today, AQI Level, Weather: वायु प्रदूषण (Air Pollution) पर जारी एक रिपोर्ट के अनुसार इस साल की दिवाली पिछले छह सालों में सबसे ज्यादा प्रदूषण फैलाने वाली थी. पूरे देश में सबसे ज्यादा प्रदूषित शहर नोएडा (Noida) जबकि दूसरे नंबर पर गुरुग्राम (Gurugram) रहा. नोएडा में एक्यूआई 475 दर्ज किया गया. हवा में धुंआ फैलने की वजह से कई लोगों को हफन की भी समस्या देखने को मिल रही है. वायु प्रदूषण के खतरनाक स्तर में पहुंचने के बाद अब दिल्ली एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया ने भी चेतावनी दी है.

नई दिल्लीः दिवाली के बाद एक बार फिर दिल्ली को स्मॉग (Smog in Delhi) ने घेर लिया है. जिससे दिल्ली वासियों के लिए परेशानियां बढ़ गई हैं. दिवाली के बाद दिल्ली की वायु गुणवत्ता सूचकांक (Air Quality Index) एक बार फिर ‘गंभीर’ की श्रेणी में पहुंच गया है. पिछले दो दिन से हवा का स्तर बद से बदतर होता जा रहा है. शनिवार को हवा में घुलने वाले हानिकार पार्टिकल्स यानी पीएम10 जिसे पर्टिकुलेट मैटर कहते हैं का स्तर 412 पहुंच गया जबकि वहीं पीएम2.5 का स्तर 286 पर रहा.

दिवाली वाले दिन से राष्ट्रीय राजधानी में हवा की गुणवत्ता गंभीर स्तर पर बनी हुई है. आतिशबाजी के साथ साथ पराली जलाने की समस्या ने राजधानी समेंत कई राज्यों में बड़ी मुश्किल पैदा कर दी है. शनिवार दोपहर तीन बजे आनंद विहार में एयर क्वालियी इंडेक्स 600 से ज्यादा दर्ज किया गया. अगर दिल्ली के ओवर ऑल एक्यूआई के बारे में बात करें तो सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फॉरकास्टिंग एंड रिसर्च के अनुसार यह 456 था.

वायु प्रदूषण पर जारी एक रिपोर्ट के अनुसार इस साल की दिवाली पिछले छह सालों में सबसे ज्यादा प्रदूषण फैलाने वाली थी. पूरे देश में सबसे ज्यादा प्रदूषित शहर नोएडा जबकि दूसरे नंबर पर गुरुग्राम रहा. नोएडा में एक्यूआई 475 दर्ज किया गया. हवा में धुंआ फैलने की वजह से कई लोगों को हफन की भी समस्या देखने को मिल रही है.

यह भी पढ़ें- दो साल बाद बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की हाइब्रिड बैठक कल से, आगामी विधानसभा चुनाव मुख्य एजेंडे में सबसे ऊपर

वायु प्रदूषण के खतरनाक स्तर में पहुंचने के बाद अब दिल्ली एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया ने भी चेतावनी दी है. उन्होंने कहा कि वायु प्रदूषण बढ़ने से कोरोना वायरस का खतरा बढ़ सकता है. डॉ. गुलेरिया ने कहा कि कोरोना का वायरस प्रदूषण में ज्यादा देर तक रहता है और इस वजह से संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है. वहीं कई सारे स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना है कि हवा की खराब गुणवत्ता छोटे बच्चों के दिमाग के विकास में भी बाधा डाल सकती है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.



[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fapjunk