राष्ट्रीय

Drugs Case: NCB ने कहा-नियमों के तहत हुई कार्रवाई, आरोपियों के पास से कई तरह के ड्रग्स और लाखों रुपय हुए बरामद

[ad_1]

नई दिल्ली: मुंबई क्रूज ड्रग्स मामले (Cruise Drugs Case) में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने प्रेस कॉंफ्रेंस कर कई बड़ी बाते कहीं. एनसीबी उप महानिदेशक ज्ञानेश्वर सिंह (NCB Dy DG Gyaneshwar Singh) ने कहा कि एनसीबी के ऊपर लगाए गए आरोप पूरी तरह से निराधार और दुर्भावनापूर्ण हैं. उन्होंने कही हमारी तरफ से क्रूज पर जो कार्रवाई की गई वह पूरी तरह से नियमों और कानून के दायरे में रहकर की गई है और जब पूरी जांच कर ली गई उसके बाद ही आरोपियों की गिरफ्तारी हुई है.

उन्होंने कहा कि NCB एक निष्पक्ष ऑर्गेनाइजेशन है जो कि इस देश को नशा मुक्त बनाने के लिए एक असाधारण से चुनौती का सामना कर रहा है हम लोग एनसीडी में पब्लिक शोर्स से पाई गई सूचना के आधार पर और अपने इंटेलिजेंस के आधार पर कार्य करते हैं एक जानकारी के आधार पर इंटरनेशनल क्रूज टर्मिनल में क्रूस पर 2 तारीख को रेट की गई थी और 8 लोगों को कई तरीके के ड्रेस के साथ गिरफ्तार किया गया था. इनके पास से कई तरीके की ड्रेस और ₹133000 बरामद किए गए.

दो स्वतंत्र गवाह भी शामिल किए गए
एनसीबी डीडीज ने कहा कि विधि द्वारा स्थापित प्रक्रिया के तहत एनसीबी को दो स्वतंत्र गवाह भी अपनी प्रक्रिया में शामिल करने होते हैं क्योंकि यह सारे ऑपरेशन वास्तविक समय के आधार पर होते हैं तो इन विटनेस का फील्ड वेरिफिकेशन और इनके बारे में जानकारी खट्टा करना मुश्किल होता है क्योंकि उस समय हमारा मुख्य उद्देश्य ट्रक की रिकवरी और ऑपरेशन पर होता है कुल 9 स्वतंत्र गवाह इसमें शामिल हुए जिसमें मनीष भानुशाली और केपी भी थे मैं यहां दोहराना चाहूंगा कि सभी 9 गवाहों को 2 तारीख के ऑपरेशन से पहले एनसीबी नहीं जानती थी.

इस छापेमारी में जो लोग गिरफ्तार हुए थे उसके बाद उनकी सेफ्टी को ध्यान में रखते कई सारे कैमरों के बीच इनको एमसीडी ऑफिस में लाया गया. जितने भी लोग यहां पर डिटेन किए गए यार इसकी गए उन सभी के साथ एनसीबी ने आयोजित और अच्छा व्यवहार किया यहां तक कि उनके पक्ष के वकील ने भी एनसीबी के ऑफिस अर्थ में अपना विश्वास जाहिर किया है और यह कोर्ट रूम की कोर्ट रूम में दर्ज

उन्होंने बताया कि कुल 14 लोगों को एमसीडी के ऑफिस में जलाया गया था सभी को धारा 67 के अंतर्गत नोटिस शुरू किया गया था सभी को थरौली एग्जामिन किया गया और उनके स्टेटमेंट रिकॉर्ड किए गए यह सारी प्रक्रिया के बाद उन 14 व्यक्तियों में से आठ के खिलाफ सबूतों के आधार पर उन्हें गिरफ्तार किया गया और 6 लोगों को सबूतों के अभाव में छोड़ा गया

अधिकारी ने कहा कि पंचनामा हम लोग सपोर्ट पर बनाते हैं अलग-अलग ऑपरेशन में यह ड्रेस कोड अलग अलग हो सकते हैं. किसी एक ऑपरेशन में भी अलग अलग सपोर्ट पर अलग तरीके से कार्यवाही होती है उसमें समय भी अलग होता है और प्रक्रिया भी अलग होती है. हालांकि यह सारे डॉक्यूमेंट एक विधिक प्रक्रिया का हिस्सा है और आने वाले समय में कोर्ट में पेश किए जाएंगे. अभी भी एक बार दो बार यह कोर्ट में पेश किए जा चुके हैं. जिन लोगों को एनसीबी नेआरेस्ट किया था आठ लोगों को उनके लिए पुलिस कस्टडी कोर्ट ने शुरुआती तौर पर एक दिन की दी थी उसके बाद 4 दिन की अवधि और बढ़ाई गई और उसके बाद 14 दिन के लिए उनको सार्थक जेल भेज दिया गया है.

एनसीबी अधिकारी ने जो बाकी 10 लोग हिरासत में हैं उनको भी अलग-अलग समय के लिए पुलिस कस्टडी में एनसीबी में पूछताछ जारी है. और कोर्ट ने सभी अभियुक्तों के खिलाफ हमें पुलिस कस्टडी प्रदान की है. ठीक तरीके से देखा जाए कि कोर्ट ने इसमें अच्छी तरीके से सोच विचार कर और हमारे द्वारा प्रस्तुत किए गए सबूतों के आधार पर हमें अप पुलिस कस्टडी और ज्यूडिशल कस्टडी प्रदान की.

कस्टडी के दौरान अभियुक्तों के द्वारा किए गए खुलासे और उनके बयान के आधार पर थे और ऑपरेशन कंडक्ट किए गए जो बाद में हुए हैं से फॉलोअप उसमें 10 लोगों को हमने जरा पार किया है विभिन्न प्रकार के ग्राहक उसमें मिले हैं

आपको बता दे कि बॉलिवुड अभिनेता शाहरूख खान के बेटे का नाम भी क्रूज ड्रग्स केस में शामिल है. एनसीबी ने आर्यन खान को इस मामले में गिरफ्तार भी किया है. अब इस पूरे मामले ने राजनीतिक रूप भी ले लिया है. एनसीपी नेता नवाब मलिक ने शनिवार को इस मामले पर एनसीबी और भाजपा पर कई गंभीर आरोप लगाए.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fapjunk