उत्तराखंड

कश्मीर में आतंकी मुठभेड़ में उत्तराखंड के दो बेटे शहीद, आज घर पहुंचेंगे पार्थिव शरीर, परिवारों में मातम

[ad_1]

देहरादून. जैसे ही आर्मी के दो जवानों विक्रम सिंह नेगी और योगंबर सिंह के शहीद होने की खबर उत्तराखंड स्थित उनके घर पहुंची तो परिवारों को विश्वास ही नहीं हुआ. परिजन अब तक सदमे में हैं और यह भी विश्वास नहीं कर पा रहे हैं कि शनिवार दोपहर बाद उनके जवान बेटों का पार्थिव शरीर घर पहुंचने वाले हैं. जम्मू कश्मीर के पुंछ ज़िले में आतंकवादियों से मुठभेड़ के लिए चलाए गए सेना के एक अभियान में नरखास इलाके में दोनों जवानों विक्रम सिंह नेगी और योगंबर सिंह की मौत हुई. 26 वर्षीय नेगी विमान गांव और 27 वर्षीय सिंह सांकरी गांव के रहने वाले थे.

खबरों की मानें तो एक महीने की छुट्टी के बाद जुलाई में इस पोस्टिंग पर पहुंचे सिंह अपने पीछे पत्नी, एक साल के बेटे सहित अपने माता पिता को छोड़ गए हैं और पूरा परिवार अब तक सदमे में है. चमोली ज़िले के सांकरी गांव के वासुदेव सिंह के हवाले से टीएनईआई ने लिखा, ‘मुझे नहीं पता कि मैं कैसे परिवार को सांत्वना दे सकूंगा.’ इसी तरह नेगी के परिजनों के बीच भी मातम पसरा हुआ है.

uttarakhand news, uttarakhand soldier, terrorist attack, terrorists encounter, terrorism in kashmir, उत्तराखंड न्यूज़, उत्तराखंड शहीद, आतंकी हमला

उत्तराखंड के शहीदों को सेना ने श्रद्धांजलि देने संबंधी ट्वीट किया.

नेगी के परिजन सुरेंद्र सिंह नेगी ने बताया कि पांच साल पहले नेगी ने आर्मी जॉइन की थी. ‘उसके सामने अभी पूरी ज़िंदगी पड़ी थी… यह इंसाफ नहीं है कि आतंकवाद की वजह से हमारे नौजवान बच्चों की जीवनलीला खत्म हो जाए.’ मौत की खबर को सुनने के बाद नेगी के परिवार में उनकी पत्नी बिरजा देवी और 95 वर्षीय दादी रुकमा देवी की हालत काफी खराब बताई जा रही है. नेगी अपने पीछे 18 महीने के बेटे को भी छोड़ गए हैं.

सेना और सीएम ने दी जांबाज़ों को श्रद्धांजलि
भारतीय आर्मी के अतिरिक्त महानिदेशक की ओर से ट्विटर पर कहा गया कि जनरल एमएम नरावणे और तमाम रैंक्स ने दोनों शहीद जांबाज़ों को सलामी देकर श्रद्धांजलि दी और शोक संतप्त परिवार के प्रति संवेदनाएं व्यक्त कीं. वहीं, उत्तरी कमांड ने ट्वीट किया कि लेफ्टिनेंट जनरल वायके जोशी ने दोनों वीरों को श्रद्धांजलि दी. इधर, ट्विटर पर उत्तराखंड के सीएम पुष्कर सिंह धामी ने अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि देते हुए लिखा, उत्तराखंड के वीरों के सर्वोच्च बलिदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fapjunk