राष्ट्रीय

वीर गाथा प्रोजेक्ट: कविताओं, निबंधों में वीरों का बखान करेंगे स्कूली छात्र, रक्षा मंत्रालय देगा पुरस्कार

[ad_1]

नई दिल्ली. स्कूली छात्रों को सशस्त्र बलों के जवानों, अधिकारियों और आम नागरिकों की बहादुरी से परिचित कराने के लिए केंद्र सरकार (Union Government) ने ‘वीर गाथा प्रोजेक्ट’ की शुरुआत की है. इसके तहत छात्रों को वीरता पुरस्कार (Gallantry Award) हासिल करने वालों की कहानी को कविताओं, चित्रों, निबंधों के रूप में दिखाने के लिए प्रेरित किया जाएगा. खास बात है कि रक्षा मंत्रालय (Ministry of Defence) के सुझाव पर शुरू हुई पहल में विजेता को पुरस्कार भी दिया जाएगा. सबसे अच्छी कृति को 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के मौके पर सम्मानित किया जाएगा.

इस प्रोजेक्ट के तहत छात्रों की तरफ से दाखिल की गई कृतियों की जांच पहले स्टेट काउंसिल ऑफ एजुकेशन रिसर्च एंड ट्रेनिंग (SCERTs) करेंगे. इसके बाद शिक्षा मंत्रालय की तरफ से नियुक्त की गई समितियों को भेजा जाएगा, जो राष्ट्रीय स्तर पर शीर्ष 25 प्रोजेक्ट का चुनाव करेंगी. इन प्रोजेक्ट्स को गणतंत्र दिवस पर सम्मानित किया जाएगा. कक्षा 3 से 12वीं तक के छात्र इसमें 20 नवंबर तक एंट्री ले सकते हैं.

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की तरफ से जारी सर्कुलर के अनुसार, ‘छात्रों के बीच इन वीरों की बहादुरी की जानकारी और जीवन की कहानियों के प्रसार के लिए रक्षा मंत्रालय की तरफ से यह प्रस्ताव दिया गया है कि स्कूली छात्रों को वीरता पुरस्कार विजेताओं पर आधारित प्रोजेक्ट्स और एक्टिविटीज के लिए प्रोत्साहित किया जा सकता है. इसलिए शिक्षा मंत्रालय, स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग 21 अक्टूबर से 20 नवंबर 2021 तक वीर गाथा प्रोजेक्ट का आयोजन कर रहा है.’

बोर्ड ने बताया है कि इस प्रोजेक्ट में सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के CBSE समेत हर स्कूल के छात्र हिस्सा ले सकेंगे. इसमें कहा गया है कि वीर गाथा प्रोजेक्ट के तहत छात्र वीरता पुरस्कार विजेताओं पर अलग-अलग प्रोजेक्ट्स तैयार कर सकते हैं और सबसे अच्छे प्रोजेक्ट को रक्षा मंत्रालय और शिक्षा मंत्रालय की तरफ से आगामी गणतंत्र दिवस पर सम्मानित किया जाएगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fapjunk